हैलो फ्रेंडज़, मैं साहिल आपके लिए एक बार फिर नई सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ. पहले तो आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद कि आप सभी ने मेरी पहली स्टोरी
मौसी को चुत चुदवाने के लिए पटा ही लिया
को इतना प्यार अधिक प्यार दिया.

मैं एक बात बता दूँ कि ब्रा मेरी कमज़ोरी है वो बिग ब्रा.. जब मैं ब्रा को देखता हूँ तो मुठ मारे बिना नहीं रहा सकता, आई लव टू ओल्ड आंटीज और उनकी टाइट ब्रा..

इस सेक्स स्टोरी में हुआ यूं कि मैं अपनी मौसी के घर से पूरे एक साल बाद अपने घर आया था. मुझे अब मौसी की चुत का रस पीने की लत लग गई थी और उनकी हर सुबह चुत चाटने की आदत मुझे इतनी अधिक लग गई थी कि बिना चुत चाटे मुझसे रहा ही जा रहा था. पर यहां ये सब उपलब्ध नहीं था क्योंकि मैं तो अपने घर आ गया, पर मौसी की चुत बहुत मिस कर रहा था.

उस दिन मैं बोर हो रहा तो मैं अपनी छत पर आ गया. मैंने देखा कि हमारे घर के पास एक नई फैमिली रहने आई है. उस फैमिली में आंटी जी बड़ी ही काँटा माल थीं. उनकी सेक्सी भरी भरी बॉडी और बड़े बड़े मम्मे किसी का भी लंड खड़ा कर देने में सक्षम थे. आंटी की उम्र 55 साल की थी, लेकिन वो लगती 45 साल की थीं.

वो छत पर टहल रही थीं, उनकी चूचियों की साइज़ 36 इंच था. उनकी ब्लू कलर की ब्रा एकदम टाईट पहनी थी, जो उनके सफ़ेद कुर्ते में से साफ दिख रही थी. मेरा लंड तो आंटी की एकदम कड़क हो गया. क्या करूँ किसी भी कांटे की ब्रा मेरी कमज़ोरी है. बहुत दिन का बाद इतनी सेक्सी ओल्ड आंटी को देखा था, वो भी एकदम मस्त टाइट ब्रा में, देख कर मेरा बुरा हाल हो गया.. लंड से पानी चूने लगा.

मैं हाथ से अपना लंड मसलने लगा और आंटी को देखता जा रहा था. इससे हुआ ये कि मैं और गरमा गया और ज़ोर ज़ोर से पैन्ट के ऊपर से ही बिंदास अपने लंड की मुठ मार रहा था. तभी लंड का पानी अन्दर ही निकल गया.