एक दिन मैं अपने घर में आराम कर रहा था. रविवार था और मेरा घर में कोई काम नहीं था. पर मेरी बीवी को अपने जॉब से छुट्टी नहीं मिली थी, इस बात को लेकर मैं नाराज़ था क्योंकि मुझको उसे चोदना था.

अब मैं अकेले घर में क्या करता … तो पूरे घर को लॉक कर के, खड़की दरवाजे सब बंद किए और नंगा हो गया. मैं हाथ में सिगरेट जला कर अपने बेडरूम में आ गया. मैं बेडरूम के टीवी में पॉर्न लगा कर देखने लगा.

फिर मुझे याद आया कि अपनी बीवी के कुछ नंगे फ़ोटो और चुदाई के वीडियो हैं, क्यों न वो भी देख कर मजा लिया जाए. मैंने अपनी बीवी के वीडियो में उसका नंगा और गोरा जिस्म देखना शुरू किया. इस वीडियो में वो नंगी नाच रही थी. वो ऊपर से नंगी थी.

वो मेरे कहने पर अक्सर नंगी होकर नाचती थी. इस तरह से मेरे कहने पर मेरी बीवी अपनी नाभि, बुर और गांड को मटका कर ऐसे नाचती थी मानो स्वर्ग लोक की अप्सरा नाच रही हो. वो वैसे भी देखने में भी किसी हूर से कम नहीं थी, वो नाचती भी मस्त है.

जब ‘ये मेरा दिल प्यार का दीवाना’ इस गाने पर वो नाचती थी, तो पूरी रांड बन जाती थी. आज वो इस वीडियो में मेरे लिए मेरी रांड बन गई थी. मैं अपने बेड पर नंगा लेटकर उसकी मस्त चूचियों को हिलाता हुआ देख रहा था. मैं इस वक्त अपने एक हाथ में सिगरेट दूसरे हाथ में अपना लवड़ा पकड़ कर हिलाने लगा था. उसके कई वीडियो एक के बाद एक चलाते हुए मैं देखता रहा.

एक घण्टा बीत गया, पर मेरा मादरचोद लवड़ा खड़ा का खड़ा ही रहा. मैं मन ही मन अपनी मादरचोद बीवी को गाली देने लगा था.
आज साला मादरचोद इतना बुरा दिन था कि अपनी बीवी के होते हुए अपना लवड़ा खुद हिलाना पड़ रहा था.

आखिर मैंने फोन लगाया और गुस्से में बोला- सुन निधि … कहां है तू साली …
वो समझ गई कि मैं बहुत गुस्से में हूँ.

निधि इठला कर बोली- मेरे पति देव मैं आपके दिल में ही हूँ और कहां रहूंगी.
मैं गुस्से में बोला- मादरचोदी जल्दी से आ जा … मेरे लवड़ा तुझे याद कर रहा है.