मस्तराम की कामुकता में खोए हुए दोस्तों को मेरा नमस्कार।
मेरा नाम डेविल है। मैं जालंधर, पंजाब से हूं। मेरी उम्र 30 साल है।

आज मैं आपको मेरी जिंदगी की रियल कहानी बताने जा रहा हूँ।
यह कहानी 2016 की है जब मैं विदेश में रह रहा था। वहां मेरा अपना काम था। मेरा बदन ना ज्यादा पतला है ना ज्यादा मोटा.
मेरी हाइट पांच फीट नौ इंच है और मेरे लंड का साइज़ 6″ लम्बा और 2″ मोटा है.

अब मैं अपनी सेक्स की कहानी शुरू करता हूँ.

मैं डेढ़ साल से विदेश में था। वहां मेरा 1 मित्र बन गया, वह भी पंजाब से था। वो अंगरेजी नहीं जानता था।

ऐसे ही जान पहचान हुई और हम दोनों दोस्त बन गए। हम दोनों छुट्टी के दिन उसके रूम पर ही रहते थे।

एक दिन ऐसे ही मैं उसके रूम पर गया तो उसने मुझे कहा- मेरी फेसबुक पर किसी लड़की का मैसेज आया है।
जब मैंने देखा तब उसका मैसेज था ‘क्या आप मेरी मदद कर सकते हो?’

फिर मैंने अपनी फेसबुक से उसकी आईडी पर मैसेज किया और फिर उसने मुझे वापिस मैसेज किया।

उस लड़की का नाम था सुषी (बदला हुआ) मैंने उससे पूछा- मैडम, आपको क्या मदद चाहिए?
तो उसने बताया कि वो भारत में रहती है. उसका जीजा भी उस देश में ही है जहां आप हो. और मेरा जीजा मेरी बहन को ना कभी फोन करता है और ना ही कभी पैसे भेजता है।

मैंने उससे उसके जीजा का नाम और फोटो मांगा. मैंने सोचा कि चलो अगर मेरी वजह से किसी का भला होता है तो कर देता हूँ किसी का भला.
उसने जीजा का नाम तो बता दिया पर फोटो नहीं दिया।

फिर धीरे-धीरे हमारी साधारण बातें होने लगी। सामान्य बातों से देर रात तक बातें होने लगी। हम दोनों की बातें धीरे-धीरे प्यार की तरफ़ जाने लगी।