मस्तराम पर ये मेरी पहली चूत चुदाई स्टोरी है. कोई ग़लती दिखे, तो प्लीज़ माफ़ कर देना.

मेरा नाम अंकित है. मैं राजस्थान से हूँ. मेरा शरीर साधारण ही है. लंड की साइज़ कुछ साढ़े छह इंच की है.

यह चूत चुदाई स्टोरी मेरे गांव के घर के पड़ोस की भाबी के साथ हुई चुदाई की है. भाबी का नाम पूर्वा था. उनका फिगर बड़ा मस्त था. यही कोई 34-28-36 का मदमस्त फिगर था … जिसे देख कर किसी के भी लंड में फुरफुरी आ जाए और लंड बिना सिग्नल पाए झट से खड़ा हो जाए.

ये चुदाई स्टोरी अभी एक साल पहले की है. उन दिनों मैं अपनी पढ़ाई से फ्री होकर गांव गया हुआ था. भाबी की शादी को अभी एक साल हुआ था.

गांव में जाकर मैं अपनी भाबी से पहली बार मिला, तो मैं उनको देखता ही रह गया. आह क्या मस्त फिगर था उनका … पहली बार में लंड ने हिचकोले लेने शुरू कर दिए थे और पहला मौका मिलते ही मैंने उनके घर के बाथरूम में ही जाकर भाबी की मदमस्त देह को याद करके मुठ मार ली. मगर ये जल्दीबाजी में मारी गई मुठ थी, इसलिए मुझे चैन नहीं मिला.

उनको देखने के बाद मैं अपने घर आ गया और कमरे में नंगा होकर पूरी तसल्ली से भाबी के नाम से 2 बार मुठ मारी … तब मेरे लंड को कुछ शान्ति मिली.

फिर धीरे धीरे मेरी उनसे बात होने लगी. भाबी का स्वभाव बहुत अच्छा था. उनकी मुस्कुराहट और खिलखिला कर हंसने की आदत ने मुझे घायल कर रखा था.

बातों बातों में हम खुलने लगे और एक दिन भाबी मुझसे मेरी जीएफ के बारे में पूछने लगीं.
मैंने कहा- मेरी कोई जीएफ नहीं है.
उन्होंने कहा- क्यों ऐसा क्यों? कोई मिली नहीं क्या … या कोई स्पेशल चाहिए, बताओ तुम्हारी पसंद कैसी है?