मस्तराम के पाठकों को मेरा नमस्कार! जैसा की आपने मेरी पिछली
चूत का भूत
और खूब ईमेल भी किये। यह कहानी काल्पनिक है, मनोरंजन मात्र के लिए लिखी गयी है.

मेरा नाम विक्रम है, जयपुर में रहता हूँ. मेरा कद 5 फुट 11 इंच, उम्र 31 वर्ष है। पर ये कहानी मेरी वाइफ रीना की है। जिनकी उम्र 27 वर्ष, रंग सांवला, बूब्स साइज 34B, कद 5 फुट 2 इंच, एकदम दुबला छरहरा कामुक शरीर, जिसको एक बार भी जो देखे वो गच्चा खा जाये की ये लड़की शादीशुदा भी हो सकती है क्या।

सीधा कहानी पे आता हूँ। मेरी पत्नी रीना को पराये मर्दो का लिंग भाने लगा था वो जम कर चूसती चुदती और खूब मज़े लेती, सबसे बुरी बात वो मज़े ले ले कर मुझे रात को चुदाई के वक़्त जोश के साथ बताती. मेरा तो दिमाग ख़राब होने लगा था. एक तरफ तो जोरदार गुस्सा आता खुद पर और रीना पर तो दूसरी तरफ मुझे कामउत्तेजना भी हो जाती. मेरी हालात तो जैसे धोबी का कुत्ता न घर का न घाट का वाली हो चली थी.

फिर एक दिन एकदम सर्द रात को रीना बोली- क्या जी, आजकल तो आपका चुदाई में मन ही नहीं लगता. दस पंद्रह मिनट में छोड़ देते हो, पहले तो घण्टों लगे रहते थे?
विक्रम ने तैश में बोल ही दिया- पहले तुम भी बाहर का खाना इतना नहीं खाती थी.
रीना- अरे बाबा इतनी सी बात! अभी तो पिछले 2 साल से किसी भी पराये मर्द को छूने नहीं दिया है, पूरी तरह से पवित्र हूँ, चलो मूड बनाओ.

विक्रम ने थोड़ा से सोचते हुए- हम्म अच्छा … इतने महीने से और मैं क्या क्या सोच रहा था!
रीना- क्या क्या सोच रहे थे?
विक्रम- यही कि मेरे साथ तुम्हारा मन नहीं करता … तुम किसी और से … वगैरह वगैरह!
रीना- ना, अब आपको ऐसे धोखा देना अच्छा नहीं लगता जी!